न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरसों -चना फसलों की सरकारी खरीद पर रोक



हनुमानगढ़ : कोरोना वायरस के चलते प्रदेश के किसानों के लिए बुरी खबर है, साल 2020 में 1 अप्रेल से रबी की फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर सरकारी खरीद शुरू होनी थी, कृषि जिंस की इस सरकारी खरीद के लिए जिले में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का कार्य 18 मार्च 2020 से शुरू किया गया था, जिसे सरकार के आगामी आदेश मिलने तक स्थगित कर दिया गया है।
जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए पुरे राजस्थान को 31 मार्च 2020 तक लॉक डाउन कर दिया गया है । सभी आवश्यक सेवाओं को छोड़कर राज्य में सरकारी कार्यालय, मॉल, सिनेमा हॉल, होटल, दुकानें, फैक्ट्री और अन्य प्रतिष्ठान अब 31 मार्च तक बंद रहेंगे। 
सरसों व चना की एमएसपी मूल्य पर सरकारी खरीद रद्द
राज्य सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने रविवार को इस बारे में जानकारी प्रदान की इसलिए राज्य के सभी किसान भाइयों को सूचित किया जाता है की कोराना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये किये जा रहे राज्यव्यापी उपायों के तहत समर्थन मूल्य पर सरसों एवं चने की खरीद प्रक्रिया को आगामी आदेशों तक स्थगित कर दिया गया है। वो अपनी फसलों को सरकारी फसल खरीद केन्द्रों (सरकारी अनाज मंडियों) में ले जाने से बचे ।


प्रदेश में दलहन एवं तिलहन (चना और सरसों) की खरीद के लिये कोटा संभाग में 6 मार्च से तथा शेष राजस्थान में 18 मार्च से ऑनलाइन पंजीयन प्रारम्भ किया गया था। जबकि कोटा सम्भाग में 16 मार्च से सरसों व चने फसल की सरकारी खरीद शुरू हो चुकी थी, और बाकी जिलों में 1 अप्रेल से शुरू होनी थी ।
राजफैड प्रबंध निदेशक सुषमा अरोड़ा ने बताया कि प्रदेश में कृषि जिंस की सरकारी खरीद को रोके जाने के बारे में सभी खरीद प्रभारियों को निर्देश जारी किये जा चुके है ,MSP फसल खरीद प्रक्रिया को पुन: चालू किये जाने की सूचना किसानों को दे दी जायेगी ।