राजगढ़ SHO विष्णुदत्त विश्नोई ने की आत्महत्या, बेनीवाल ने CM से की वक्तव्य देने की मांग


राजस्थान के चूरू जिले की सादुलपुर तहसील मुख्यालय के राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने आत्महत्या कर ली है। यह खबर बाजार में आग की तरह फैल गई। विष्णुदत्त विश्नोई क्षेत्र के आमजन का चाहेते थानाधिकारी रहे हैं। इस कारण राजगढ़ थाने के सामने काफी संख्या में भीड़ एकत्रित हो गई।
सूचना मिलते ही पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां, पूर्व विधायक मनोज न्यांगली, व्यापार मंडल अध्यक्ष राधेश्याम डोकवेला भी राजगढ़ थाने के सामने पहुंचे और सभी ने कहा कि इस तरह के एक ईमानदार निष्पक्ष दबंग थाना अधिकारी के द्वारा आत्महत्या करना एक प्रश्न चिन्ह खड़ा कर रहा है।
राजगढ़ क्षेत्र के गरीब के हितेषी निष्पक्ष जांच करने वाले थाना अधिकारी ने इस तरह का कदम क्यों उठाया? इसकी पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां, पूर्व विधायक मनोज न्यांगली, व्यापार मंडल के अध्यक्ष राधेश्याम डोकवेवाला ने पुरजोर शब्दों में मांग की है कि इस मामले की निष्पक्ष न्यायिक जांच होनी चाहिए। मनोज न्यांगली ने तो यहां तक कह दिया कि जब तक इसकी निष्पक्ष जांच नहीं करवाई जाएगी वह अपने समर्थकों के साथ यहीं बैठे रहेंगे।
देखते ही देखते राजगढ़ का बाजार भी बंद हो गया। हर कोई आज राजगढ़ के थानाधिकारी की आत्महत्या पर आंसू बहाता नजर आया। पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम, जिला कलेक्टर संदेश नायक राजगढ़ थाने पहुंच चुके हैं। यह भी बताया जा रहा है कि राजगढ़ थाना अधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है, लेकिन पुलिस के अधिकारी अभी तक इसका खुलासा नहीं कर रहे हैं।

सीबीआई जांच करने की मांग की
राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त बिश्नोई के आत्महत्या करने का मामला अब राजनीतिक रंग लेता नज़र आ रहा है। मामले में नागौर सांसद और रालोपा संयोजक हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट करते हुए घटना की सीबीआई जांच करवाने की मांग की है। बेनीवाल ने घटना को सिस्टम पर बड़ा सवालिया निशान खड़ा करने वाली घटना बताते हुए सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मामले में वक्तव्य जारी करने की मांग की है।
बेनीवाल मुख्यमंत्री से मांग करते हुए कहा है कि गृह विभाग क्योंकि आपके पास है इसलिए आपको इस मामले में वक्तव्य जारी करना चाहिए। बेनीवाल ने ट्वीट के जरिये राजगढ़ थानाधिकारी की आत्महत्या पर संवेदना जाहिर करते हुए कहा है कि न्याय की इस लड़ाई में रालोपा बिश्नोई के परिवार के साथ है। गौरतलब है कि राजगढ़ थानाधिकारी का शव पुलिस थाने में बने उनके सरकारी आवास में मिला है और उनके आत्महत्या करने की बात सामने आ रही है। बिश्नोई की छवि एक ईमानदार और दबंग के रूप में थी।